Hindi Shayari Archive

बेवजह इंतज़ार करते रहे उनका

बेवजह इंतज़ार करते रहे उनका , जो काबिल ही ना थे मोह्हबत के हर पल खुशनुमा

हर लम्हा जिंदगी कुछ ना कुछ सिखाती है

हर लम्हा जिंदगी कुछ ना कुछ सिखाती है यकीनन कभी ये हंसाती है , कभी ये

कुछ यूं हुआ है हाल-ऐ-दिल , सतरंग सपने हो गये |

कुछ यूं हुआ है हाल-ऐ-दिल , सतरंग सपने हो गये | वो कब आये , कब

कट रही है जिंदगी एक अनछुए एहसास से |

कट रही है जिंदगी एक अनछुए एहसास से | क्या पता कल क्या हो , बेखबर

फिर याद आता है हमको , वो बीता हुआ अपना बचपन

फिर याद आता है हमको , वो बीता हुआ अपना बचपन | वो सावन की बारिश