जिंदगी तो बिता दी है तुने , ईश्वर की खोज में


जिंदगी तो बिता दी है तुने , ईश्वर की खोज में |
क्यों नहीं गया ध्यान तेरा , माँ के पवन चरण धाम में ||

कहते है अदभुत बात होती है माँ के आशीष में |
काट नहीं होती है जिसकी , विधाता के भी पास में ||

माँ के चरणों में तू एक पल तो बिता दे , अपने मस्तक को उसके चरणों में झुका दे |
मिल जाएगी तुझे जन्नत , बस एक बार उसे तू दिल में बसा ले ||

मिलती है बड़ी किस्मत से ममता की ये छाव , हर दुःख दर्द को जो पल में भगा दे
वैसे तो उसका एहसान तू चुका ना सकेगा , बस दे के उसे ख़ुशी तू अपना फ़र्ज़ निभा दे …..BY SPT

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *