Shayari By Heart

Mehgai ki maar se har koi ro rha hai

Mehgai ki maar se har koi ro rha hai Salary bhi apni aksar kisto mein kho rha hai Salary hui Jo credit khusia use mili Credit

वो आज भी परखते है चाहत को हमारी

वो आज भी परखते है चाहत को हमारी और जब की हमने उन्हें कब का चाहना छोड़ दिया…..BY SPT

तेरी आँखों की शरारत है बड़ी कातिल

तेरी आँखों की शरारत है बड़ी कातिल पास आ के लौट जाने की अदा है कातिल हम तो मर ना जाये कही तेरी इन अदाओं से

Wo aksar bhool janay ki shikayat

Wo aksar bhool janay ki shikayat mujh se karta hai, Main jis ko yaad rakhnay ke siwa kuch bhi nahi karta.. ♥

Teri aankho mein ek noor sa jab se dekha hai

Teri aankho mein ek noor sa jab se dekha hai Beshaq tu door hai mujhse , par dil ke kareeb dekha hai…..BY SPT

Pushp Ki Abhilasha

चाह नहीं मैं सुरबाला के गहनों में गूँथा जाऊँ चाह नहीं, प्रेमी-माला में बिंध प्यारी को ललचाऊँ चाह नहीं, सम्राटों के शव पर हे हरि, डाला